YOGA HERITAGE TOURS एवं VrajaVrindavan.com

द्वारा आयोजित एवं संचालित

“श्री ब्रज चैरासी (84) कोस दर्शन यात्रा”

AC कार द्वारा सुविधाजनक 10 दिवसीय ब्रज चौरासी (84) कोस दर्शन यात्रा

यह स्पेशल तीर्थ यात्रा 10 मार्च 2018 को श्री धाम वृंदावन से प्रस्थान करेगी

यात्रा की विशेषताएं :-

  • शुद्ध देशी घी का दोनों समय भोजन, सुबह का नाश्ता व दो समय चाय।
  • घुमाने के लिए AC कार व अनुभवी गाइड की सुविधा।
  • यात्रा के पैकेज अनुसार उत्तम सुविधा युक्त होटल / गेस्ट हाउस / अपार्टमेंट / आश्रम।
  • प्रत्येक यात्री को शयन हेतु बिस्तर, पलंग एवं AC कमरों की उत्तम व्यवस्था (अटैच्ड लैट / बाथ)।

नोट :- उपरोक्त सभी सुविधाएँ यात्रा पैकेज शुल्क में सम्मिलित हैं।

श्री ब्रज चैरासी (84) कोस दर्शन यात्रा का विवरण एवं एवं दर्शनीय स्थल प्रत्येक दिनांक अनुसार।

पहला दिन

श्री धाम वृंदावन में आपका आगमन, सांयकाल श्री बाँके बिहारीजी दर्शन, राधा वल्लभ, राधारमण जी मंदिर एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

दूसरा दिन

प्रातः यमुना स्नान व यमुना पूजन (वृंदावन), बेलवन, देवरहा बाबा भजन स्थली, मान सरोवर, भांडीरवन, राधाकृष्ण विवाह स्थली, नन्दिबन्दी, दाऊजी, ब्रह्माण्ड घाट (पुराना गोकुल), चिंताहरण महादेव, चैरासी (84) खम्भा भवन, महावन, रमणरेती, गोकुल, चन्द्रावली, रावल (श्री राधारानी जन्म स्थान), रसखान समाधी, लोहवन एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

तीसरा दिन

प्रातः यमुना पूजन (विश्राम घाट मथुरा), द्वारिकाधीश जी मंदिर, दुर्वासा ऋषि मंदिर, श्री कृष्ण जन्मस्थान, श्री केशव देव जी मंदिर, ताल वन, ध्रुव टीला, भूतेश्वर महादेव, बिड़ला मंदिर, पागल बाबा मंदिर, भतरोंड मंदिर, अक्रूर मंदिर एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

चैथा दिन

शांतनु कुंड, रास मंडल, चन्द्र सरोवर, ऐंठा कदम्ब, चतुर्भुज मंदिर, सूर भजन स्थली, गोवर्धन दर्शन, गोवर्धन परिक्रमा, पूंछरी का लौठा, अप्सरा कुंड, श्याम ढाक, श्रीनाथजी परिक्रमा, जतीपुरा, मुखारविंद, चकलेश्वर महादेव, श्रीनाथजी गुफा, मानसी गंगा, दान घाटी, राधा कुंड – श्याम कुंड पूजन, मुखराई (श्री राधारानी की ननिहाल), उद्धव कुंड, कुसुम सरोवर, नारद कुंड, श्याम कुटी, मुखारविंद पूजन, सूर्य कुंड एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

पांचवा दिन

प्रातः चार धाम यात्रा (ब्रज के) बद्रीनाथ, तप्त कुंड, केदारनाथ, गौरी कुंड, गंगोत्री, यमुनोत्री, चरण पहाड़ी, विमल कुंड, कामेश्वर महादेव, डीग महल, गजग्राह मोक्ष, चरण पहाड़ी, गया कुंड, विमल कुंड, सुदामापुरी दर्शन एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

छठा दिन

कामवन, कृष्ण चन्द्रमा जी, मदनमोहन, कामेश्वर महादेव, चतुर्युग महादेव, राधावल्लभ, वृंदा देवी, भोजन थाली, फिसलनी शिला, सुदामा कुटी, विमल कुंड, नागा जी, कदम्ब खण्डी, चित्र विचित्र शिला, बरसाना एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

सातवां दिन

बरसाना परिक्रमा, साँकरी खोर, गहवर वन, गहवर कुंड, मोर कुटी, मानगढ़, दानगढ़, महाप्रभु जी की बैठक, जयपुर मंदिर, श्री जी दर्शन, प्राचीन गोपाल मंदिर, बालभोग दर्शन, कोकिला वन, चमेली वन, शेषशायी विष्णु मंदिर एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

आठवां दिन

नन्द गाँव, नन्द बलराम दर्शन, नंदेश्वर महादेव, कदम्ब टेर, आशीश्वर महादेव, नन्द खिरक, यशोदा कुंड, चरण दर्शन, वृंदा देवी, गया कुंड, चन्द्रावली सखी रिठौरा, रंगीली महल, संचोली देवी एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

नवां दिन

पिसाई की झड़ी, अस्वत्थामा तपस्थली, कज्जल वन, खेलन वन, जाव, शेरगढ़, ऐंचा दाऊजी, विहार वन, अक्षय वट, तपो वन, चीर घाट, नरी सेमरी, जैंत, चैमुंहा, छटीकरा, आटस वाली देवी, गरुड़ गोविन्द, वैष्णो देवी, प्रेम मंदिर, इस्कॉन मंदिर एवं रात्रि विश्राम वृंदावन में।

दसवां दिन

यमुना पूजन (वृंदावन) एवं ब्रज की अद्भुत एवं भक्तिपूर्ण संस्कृति के अनुभव हेतु ब्रज के संस्कृतिक कार्यक्रम रासलीला / अन्य उत्सवों का आयोजन, यात्रा पूर्ण संकल्प (यात्रा संपन्न) एवं दोपहर के भोजन भंडारे के बाद स्वधाम प्रस्थान। (दोपहर 12 बजे से पहले यात्रा के पैकेज अनुसार उपलब्ध (होटल / गेस्ट हाउस / अपार्टमेंट / आश्रम) से स्वधाम प्रस्थान करना होगा अन्यथा दोपहर 12 बजे के बाद अगले दिन तक का रहने का खर्च यात्री को स्वयं वहन करना होगा)।

विशेष अनुरोध :-

समय एवं परिस्थिति के अनुसार यात्राकाल में तीर्थों का दर्शन परिवर्तित हो सकता है, उसमें आपका सहयोग अपेक्षित है।

यात्रा का पैकेज शुल्क

यात्रा के विभिन्न पैकेजों की जानकारी व एडवांस बुकिंग आप हमारी वेबसाइट www.yogaheritagetours.com पर ऑनलाइन अपने क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड, एटीएम कार्ड, वा नेट बैंकिंग द्वारा कर सकते हैं। यदि यात्री किसी कारणवश अपनी यात्रा स्वयं स्थगित करता है तो शुल्क वापिस नहीं किया जायेगा। यात्री अपने साथ असली (व फोटोकॉपी) फोटो युक्त पहचान पत्र एवं पता प्रमाण पत्र (आधार कार्ड) अवश्य लाएं।

भोजन एवं चाय नाश्ता

यात्रियों के लिया यात्राकाल में सुबह की चाय, नाश्ता, दोपहर एवं रात्रि भोजन का पूर्ण प्रबंध होगा, शाम को केवल चाय दी जाएगी। भोजन पूर्णतया शुद्ध – सात्विक होगा, लहसुन प्याज, मध्यपान, धूम्रपान यात्रा में पूर्णतया वर्जित होगा, भोजन शुद्ध शाकाहारी पद्धति से बनाया जायेगा।

शयन सुविधा

रात्रि विश्राम के लिए यात्रा के पैकेज अनुसार उपलब्ध उत्तम सुविधा युक्त (होटल / गेस्ट हाउस / अपार्टमेंट / आश्रम) का प्रबंध समस्त यात्रियों के लिए किया जायेगा एवं यात्रियों के लिए अटैच्ड लैट / बाथ युक्त दो, तीन अथवा चार बैड के कमरे उपलब्ध करवाए जायेंगे (अन्य की तरह बड़ा हॉल बुक करवा कर जमीन पर बिस्तर नहीं लगवाया जायेगा)।

यात्रा का आवश्यक सामान

प्रत्येक यात्री को अपने साथ एक चम्मच, एक गिलास, कपडे सुखाने की रस्सी, टॉर्च, मोमबत्ती, माचिस, पानी की बोतल, ताला चाबी, नियमित एवं आवश्यक दवाइयां जो की आप रोजाना लेते हों आदि सामान अपने साथ अवश्य लाएं। भोजन हेतु बर्तनों की एवं डिस्पोजल सामग्री की व्यवस्था ट्रस्ट करेगी। यात्राकाल में यात्रियों को पीने के लिए आर. ओ. (R.O.) का पानी उपलब्ध कराया जायेगा।

यात्रा के अनिवार्य नियम

सभी यात्रियों को यात्राकाल में निम्न नियमों का पालन करना अनिवार्य होगा :-

  • यात्रा के दौरान परिस्थितियों की वजह से कार्यक्रम के समय और मार्ग में परिवर्तन आ सकता है, हमारे कार्यकर्ता यात्रियों को अधिक से अधिक सुविधा देने का प्रयास करेंगे फिर भी कुछ असुविधा होना संभावित है अतः उस समय यात्री संतोष प्रवृति का पालन करें एवं हमारे कार्यकर्ताओं को पूर्ण सहयोग प्रदान कर अपनी अच्छी छवि का प्रमाण दें।
  • यात्रा के दौरान यात्रियों की देखभाल एवं भ्रमण की लिए हमारे कार्यकर्ता साथ में होंगे फिर भी किसी भी प्रकार की आर्थिक एवं शारीरिक क्षति के लिए यात्री स्वयं जिम्मेदार होंगे।
  • संक्रामक रोगी, मादक द्रव्य पदार्थों का सेवन करने वाले, अनुचित एवं अभद्र व्यवहार करने वाले व अस्वस्थ यात्री को यात्रा से प्रथक (हटाने) का पूर्ण अधिकार मैनेजर के पास सुरक्षित होगा व यात्रा शुल्क वापिस नहीं होगा, सभी विवादों का न्याय क्षेत्र मथुरा न्यायलय होगा।
  • व्यस्त सीजन होने की वजह से एवं अन्य किसी विशेष परिस्थिति में पार्किंग व्यवस्था को देखते हुए यात्री को पैदल चलना पड़ सकता है, यदि कोई यात्री पैदल चलने में असमर्थ है तो वह मैनेजर को सूचित कर अपने स्वयं के खर्चे पर रिक्शे के प्रयोग कर सकता है।
  • यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए छोटी गाड़ियों (टवेरा, इनोवा, टेम्पो ट्रैवलर अथवा अन्य) की व्यवस्था की जाएगी ताकि यात्री मंदिर व तीर्थ स्थल के अधिक से अधिक पास तक पहुँच सके।
  • यदि कोई यात्री किसी भी कारणवश यात्रा अधूरी छोड़ता है अथवा यात्रा के नियमों का उल्लंघन करने के कारण प्रथक किया जाता है तो जमा यात्रा शुल्क किसी भी हाल में वापिस नहीं होगा।

यात्रा हेतु अपना स्थान बुक कराने के लिए यहाँ क्लिक करें